मुदालियर आयोग

ताराचंद कमेटी और केंद्रीय शिक्षा के सलाहकार बोर्ड के सुझाव पर Laxman Swami Mudaliar की अध्यक्षता में भारत सरकार द्वारा 23 सितंबर 1952 को माध्यमिक शिक्षा आयोग की स्थापना की गई। लक्ष्मण स्वामी मुदालियर के अध्यक्षता में गठित आयोग को मुदालियर आयोग कहते हैं । इसका अन्य नाम माध्यमिक शिक्षा आयोग भी है। इस आयोग के गठन का मुख्य उद्देश्य वर्तमान में चल रही माध्यमिक शिक्षा का अवलोकन करना था।

Aims of Mudaliar Commission:

  • प्रजातंत्र नागरिकता (Democratic Citizenships) का विकास कर
  • व्यावसायिक क्षमता ( vocational Capability) और व्यावसायिक कुशलता (Vocational Efficiency) में सुधार करना
  • पाठ्यक्रम को अनेकरूपता (Variety) और लचीला (Flexible) बनाना
  • पाठ्यक्रम को सामुदायिक (Community) जीवन से संबंधित करना
  • पाठ्यक्रम में सम्मिलित (Included) किए गए विषय परस्पर और जीवन से संबंधित होने चाहिए

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *