UPPCS -2018 की प्रतीक्षा सूची जारी करने की फिर उठी मांग

पीसीएस की प्रतीक्षा सूची जारी किए जाने की मांग फिर से उठने लगी है अभ्यर्थियों को आशंका है कि हमेशा की तरह इस बार भी पीसीएस 2018 में कई पद खाली रह जाने की आशंका है ऐसे में प्रतियोगी छात्रों की मांग है कि आयोग को पीसीएस परीक्षा की प्रतीक्षा सूची भी जारी करनी चाहिए ताकि अभ्यर्थियों के ज्वाइन ना करने से रिक्त पदों को भरा जा सके और अन्य अभ्यर्थियों को अवसर मिले

अभ्यर्थियों का कहना है कि पीसीएस 2018 में कई चयनित अभ्यर्थियों को सिलेक्शन संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा 2019 में भी हो चुका है जिसका रिजल्ट कुछ दिनों पहले ही आया है l

ऐसे में भर्ती सिविल सेवक को ही प्राथमिकता देंगे और pcs के पद रिक्त रह जाएंगे l इसके अलावा कई ऐसे अभ्यर्थी है जो पहले से ही कहीं नौकरी कर रहे हैं l उन्होंने एसडीएम व डिप्टी एसपी जैसे उच्च पदों पर चयन के लिए पीसीएस परीक्षा दी थी लेकिन उनका चयन नीचे के पदों पर हुआ है l ऐसे अभ्यर्थियों के ज्वाइन करने की उम्मीद भी कम है l

वही आयोग ने प्रधानाचार्य के 33 पदों पर अभ्यर्थियों को प्रोविजनल चयनित किया है इनसे अनुभव प्रमाण पत्र मांगे गए हैं जो अभ्यर्थी प्रमाण पत्र नहीं दे सकेंगे उन्हें नियुक्ति नहीं मिलेगी और तब प्रधानाचार्य के भी कई पद रिक्त रह जाएंगे l

भ्रष्टाचार मुक्ति मोर्चा के अध्यक्ष कौशल सिंह का कहना है कि आयोग अध्यक्ष वापस लेने की विज्ञप्ति जारी कर सिर्फ दिखावा करता है lअगर उसे पद रिक्त रह जाने की चिंता है और इस पर गंभीरता से विचार कर रहा है तो पीछे समेत सभी परीक्षाओं की प्रतीक्षा सूची जारी होनी चाहिए ताकि खाली पद रहने की कोई गुंजाइश ना बचे

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *